संपूर्ण श्रीमद्भागवत (संक्षिप्त) (डिप्लोमा कोर्स)

By Ramanuja Das

Certificate Course

Enroll Now

Course Duration

168 hours

Videos

02 hours each

No. Of Sessions

84

Sessions per week

4

Language
English

Eligibility
कोई नहीं - सभी के लिए खुला।

Schedule of Classes

calendar

Starts on
-

calendar

08:00 pm to 10:00 pm IST

Regular classes on

Mon, Tue, Thu & Fri

About the Teacher

teacher

Ramanuja Das

रामानुज दास वर्ष1997 में इस्कॉन के संपर्क में आए और वर्ष 2002 में श्री श्रीमद् राधा गोविंद गोस्वामी महाराज से आध्यात्मिक दीक्षा प्राप्त की। इन्होंने श्री श्रीमद् गौरकृष्ण गोस्वामी महाराज और श्री श्री वृंदावन चंद्र गोस्वामी महाराज के आश्रय में कुछ समय श्रीमद् भागवत का अध्ययन भी किया। वर्तमान में अपने वृद्ध माता-पिता के साथ बरसाना में रहते हैं और श्रीमद्भागवत के अध्ययन में यथासंभव रत रहते हुए ऑनलाइन प्रचार करते रहते हैं।

Course Overview

Course description: 
श्रीमद-भागवतम न केवल परम कारण को जानने का एक आध्यात्मिक विज्ञान है बल्कि इसके आधार पर उनके प्रति हमारे संबंध और इस संपूर्ण ज्ञान के आधार पर मानव समाज की पूर्णता के प्रति हमारे कर्तव्य को जानने के लिए भी परम पूर्ण विज्ञान है। यह संस्कृत भाषा में वैदिक साहित्य रूपी कल्पवृक्ष का परिपक्व फल कहा गया है, और अब इसका विस्तृत रूप से हिंदी में अनुवाद किया गया है ताकि पाठक केवल ध्यान से पढ़ने मात्र से ही कोई न केवल भगवान को पूरी तरह से जान सके बल्कि नास्तिकों के हमले से खुद को बचाने के लिए पर्याप्त रूप से शिक्षित भी हो सके। . इसके अतिरिक्त, पाठक नास्तिकों को भी ईश्वर की सत्ता के प्रति विश्वस्त करने में सक्षम होगा।

श्रीमद-भागवतम परम स्रोत की परिभाषा के साथ शुरू होता है। यह उसी लेखक, श्रील व्यासदेव द्वारा वेदांत-सूत्र पर एक प्रामाणिक भाष्य है, और धीरे-धीरे यह ईश्वर प्राप्ति की उच्चतम अवस्था तक नौ सर्गों में विकसित होता है। दिव्य ज्ञान की इस महान पुस्तक का अध्ययन करने के लिए केवल एक ही योग्यता की आवश्यकता है कि क्रमशः सावधानी से आगे बढ़ें और एक सामान्य पुस्तक की तरह बेतरतीब ढंग से आगे न बढ़ें। इसे एक के बाद एक अध्याय के क्रम से पढ़ना चाहिए। पढ़ने की सामग्री को मूल संस्कृत पाठ, उसके हिंदी लिप्यंतरण, समानार्थक शब्द, अनुवाद और तात्पर्य के साथ व्यवस्थित किया गया है ताकि पहले नौ सर्गों को समाप्त करने के अंत में एक ईश्वर-प्राप्त आत्मा बनना सुनिश्चित हो।

Course Contents: संपूर्ण श्रीमद-भागवतम का विहंगावलोकन (ओवरव्यू)

Target audience: कोई भी जो गौड़ीय वैष्णव संप्रदाय का अध्ययन कर रहा है।  

Assessment plan: कैंटो वाइज ऑनलाइन एमसीक्यू

Course requirement: कोई नहीं - सभी के लिए खुला।

Frequently Asked Questions